Facts about Bangkok in Hindi (हर रात रंगीन) बैंकाक जाने से पहले जान लो ये बातें

आज हम आपको बताएंगे दक्षिणी पूर्वी एशिया में स्थित बेहद सुंदर और रंगीन देश बैंकॉक के बारे में. लगभग 15 हजार वर्ग किलोमीटर में फैला बैंकॉक आकार के हिसाब से हमारे दिल्ली शहर के बराबर है. 15 वीं शताब्दी में थाई सम्राट राजा राम प्रथम के द्वारा बसाया गया यह शहर सन 1782 से थाईलैंड की राजधानी है. बैंकॉक गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज सबसे बड़े नाम वाला देश है. आपको बता दें बैंकॉक का पूरा नाम “ Krung Thep Mahanakhon Aman Rattanakosin Mahinthara Ayuthaya Mahadilok Phop Noppharat Ratchathani Burirom Udomratchaniwet Mahasathan Amon Piman Awatan Sathit Sakkathattiya Wistsanukam Prasit.” है. यह 21 शब्दों वाला दुनिया का सबसे बड़ा नाम है. लेकिन छोटे अक्षरों में इसे बैंकॉक कहा जाता है. यहां की आबादी लगभग 1.5 करोड़ के आसपास है. जिसमें कि 95% बौद्ध, 3% मुस्लिम, 1% हिंदू, और 1% में बाकी अन्य धर्म के लोग रहते हैं. यहां का कॉलिंग कोड +66 है. यहां पर भी भारत की तरह ही बाई और गाड़ियों को चलाया जाता है. थाईलैंड में कुल 41205 बौद्ध टेम्पल हैं. जिसमें से लगभग 4000 बौद्ध टेम्पल तो अकेले बैंकॉक में ही हैं. इसी कारण वश बैंकॉक को मंदिरों का शहर भी कहा जाता है. बढ़ रही ग्लोबल वार्मिंग और ग्लेशियर के लगातार पिघलने के कारण समुद्र के किनारे बसे बैंकॉक शहर का लगभग 1/4 हिस्सा आने वाले 15 सालों में पानी में डूब जाएगा. जिस कारण यहां के लगभग आधे समुद्री बीच खत्म हो जाएंगे. इसलिए अगर आप भी बैंकॉक के बीजों का मजा लेना चाहते हैं तो जल्दी ही हो आइए क्या पता आपको यह बीज आने वाले समय में मिले या ना मिले. थाईलैंड में अपने राजा को ईश्वर की तरह सलमान देना यहां के लोगों के लिए बहुत जरूरी है. यहां पर सड़कों, चौराहों, इमारतों तथा सिनेमा हॉल में भी राजा की बड़ी-बड़ी तस्वीरें लगाई जाती हैं. राजा को आशब्द बोलने वाले या फिर उनका सनमान ना करने वाले लोगों को यहां पर कठोर सजा दी जाती है. आपको बता दें कि थाईलैंड के पहले राजा श्री इंदिरा दित्य थे. जिन्होंने 1238 में पहले थाई समाज की स्थापना की थी. वर्तमान में थाईलैंड के राजा 68 वर्ष के महा वजीरा लॉग कौरन हैं. इन्होंने हाल ही में अपने से 28 साल छोटी अपनी बॉडीगार्ड Jaee से चौथी शादी करके पूरे थाईलैंड को हैरान कर दिया था. अपनी अय्याशी के कारण ही यह चर्चा में रहते हैं.

जहां दुनिया भर के शहरों में आज भी टैक्सीया अपने परंपरागत रंग में ही होती है. वही बैंकॉक में आपको हर रंग की टैक्सीया देखने को मिल जाएंगी. यहां पर हर टैक्सी कंपनी वालों का अपना एक अलग रंग होता है. इसी कारण बैंकॉक की सड़कें काफी रंगीन नजर आती हैं. यहां पर चलने वाली पिंक रंग की टैक्सी दिखने में काफी आकर्षक लगती है. बैंकॉक का Yaowarat मार्केट दुनिया का सबसे बड़ा चाइना टाउन माना जाता है. यहां पर लगभग 10 लाख से भी ज्यादा चाइनीस लोग रहते हैं. यहां के लोगों को बौद्ध धर्म की मान्यता के अनुसार अपने जीवन के कुछ साल बौद्ध भिक्षु के रूप में बिताने जरूरी होते हैं. लेकिन लगातार बढ़ रही आधुनिक और सबतंत्र जीवनशैली की वजह से पिछले कुछ वर्षों में इस धार्मिक परंपरा को मानने वाले लोगों की संख्या में काफी कमी हुई है. थाईलैंड की मुद्रा Thai Bhat है. जो कि भारत से लगभग 2 गुना ज्यादा मजबूत है. मतलब के 1 bhat बराबर 2.33 रुपए है. इसके साथ ही आपको यहां की मुद्रा पर हिंदू मंदिरों के चित्र देखने को मिल जाएंगे. वैसे तो बैंकॉक शहर को करोड़ पति-यों का शहर भी कहा जाता है. रिपोर्ट के अनुसार बैंकॉक में 2.5 लाख से भी ज्यादा करोड़पति लोग रहते हैं. जो एशिया के अन्य शहरों की तुलना में सबसे ज्यादा है. यहां पर खाने में आपको वेज और नॉनवेज सभी चीजें मिल जाएंगी. यहां पर आपको रेस्टोरेंट और सड़कों पर खाने की स्वादिष्ट चीजें आसानी से मिल जाएंगी. यहां पर मार्केट चटा सु दुनिया की सबसे बड़ी स्टेट फूड मार्केट में से एक है. टूरिस्ट के मामले में लंदन, दुबई, पेरिस और कई देशों को पीछे छोड़ते हुए बैंकॉक पहले नंबर पर आ गया है. यहां पर हर साल लगभग 2.5 करोड़ से भी ज्यादा लोग घूमने के लिए आते हैं. बैंकॉक घूमने और रहने दोनों के हिसाब से एक सुरक्षित शहर है. समुंदर के किनारे बसे होने के कारण बैंकों का तापमान पूरे साल 25 डिग्री से लेकर 35 डिग्री के बीच रहता है. जिस कारण यहां साल भर पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है. बैंकॉक के मुख्य टूरिस्ट प्लेस की बात करें तो बैंकॉक शहर के बीचोंबीच स्थित ग्रैंड पैलेस, चाओ फ़राएया नदी के किनारे स्थित विश्व प्रसिद्ध Wat Arun मंदिर, एक लाख करोड़ की कीमत वाली और 7000 किलो वजनी भगवान बुद्ध की सोने की बनी मूर्ति वाला Wat Pho मंदिर, दुनिया का सबसे ऊंचा SIROCCO रेस्टोरेंट, जैसे टूरिज़्म प्लेस मौजूद हैं.

इसके साथ अगर आप मौज़ मस्ती के शौकीन हैं तो बैंकॉक आपके लिए बेहतरीन जगह है. यहां पर हर रात हजारों लड़कियाँ सड़कों के किनारे हाथों में मसाज मीनू लेकर खड़ी रहती हैं. जिसमें फेशियल मसाज, फुट मसाज, टडिशनल मसाज, एलोवेरा मसाज और फुल बॉडी मसाज जैसे सभी मसाजो के रेट लिखें रहते हैं. जिसमें आप अपनी पसंद की मसाज, अपनी पसंद की लड़की से करवा सकते हैं. और वहां पर यह भी जरूरी नहीं है कि आप किसी मसाज पार्लर में जाकर ही मसाज करवाए, आप अपनी होटल रूम में भी मसाज गर्ल को बुला सकते हैं. यहां पर लड़कियों की उम्र और सुंदरता के हिसाब से मसाज के रेट होते हैं. मतलब के कम उम्र की लड़की से मसाज करवाने के आपको ज्यादा पैसे देने पड़ेंगे. अब आपके दिमाग में यह आ रहा होगा कि मसाज और उम्र का क्या लेना-देना है. हम आपको यह भी बताते हैं असल में बैंकॉक मसाज की आड़ में दुनिया में सबसे ज्यादा वेश्यावृत्ति करने वाला शहर है. यहां पर लड़कियाँ बड़ी सस्ती और बेहद आसानी से मिल जाती हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां पर सिर्फ 20 डॉलर से 100 डॉलर के बीच में आपको अपनी पसंद की लड़की मिल जाएगी. यही कारण है कि आज 10 लाख से भी ज्यादा लड़कियाँ मसाज की आड़ में देह व्यापार कर रही हैं. इसके साथ ही हर साल अन्य देशों से लड़कियाँ देह व्यापार करने के लिए यहां पर आती हैं. जिसके कारण बैंकॉक पूरी दुनिया में आज देह व्यापार का केंद्र बन गया है. यहां के मसाज पार्लर आपको मसाज पार्लर नहीं बल्कि लग्जरी होटल लगेंगे. यहां पर हर मसाज पार्लर में अलग-अलग कमरे होते हैं. जिसमें मसाज की आड़ में देह व्यापार किया जाता है. इतनी वेश्यावृति होने के कारण आज बैंकॉक में एचआईवी पॉजिटिव लोगों की संख्या पूरे एशिया से सबसे ज्यादा है. आप लोगों को जानकर हैरानी होगी कि वहां पर मेल और फ़ीमेल टॉयलेट के अलावा किन्नरों के लिए भी अलग टॉयलेट बनाए गए हैं. और ऐसा करने वाला बैंकॉक एशिया का सबसे पहला शहर है. बैंकॉक का स्वर्ण भूमि एयरपोर्ट दक्षिण एशिया का सबसे व्यस्ततम हवाई अड्डा है. लगभग 4 करोड लोग हर साल इस हवाई अड्डे का इस्तेमाल करते हैं.

तो दोस्तों आपको हमारी जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *