King Jong-Un Rules In Hindi उत्तर कोरिया के खतरनाक कानून

King Jong-Un Rules In Hindi उत्तर कोरिया के खतरनाक कानून

दोस्तों क्या आप लोग यह जानते हैं कि उत्तर कोरिया एक ऐसा देश है. जिसके कानून बहुत ही अजीब हैं. इसीलिए ऐसे क़ानूनों की वजह से वहां के लोगों को बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. क्या आप लोग भी जानना चाहते हैं कि आखिर वह कौन-कौन से क़ानून हैं. जिसके कारण वहां के लोग हमेशा डरे हुए और सहमें रहते हैं. तो चलिए दोस्तों आपको हम इस पोस्ट के जरिए से बताते हैं. और इन कानूनों के बारे में जानने के बाद आप सभी लोग हैरान हो जाएंगे. यही कहेंगे की भारत का कानून ही सबसे अच्छा है.
उत्तर कोरिया के कानून के मुताबिक अगर कोई अपराध करता है. तो उसकी 2 पीढ़ियों को सजा भुगतनी पड़ती है. इसका मतलब यह है कि यहां पर पीढ़ी दर पीढ़ी सजा का प्रावधान है. उत्तर कोरिया में हर 5 साल बाद चुनाव होते हैं. लेकिन उम्मीदवार सिर्फ एक ही होता है. जो होता है किम जोंग उन. इस देश में आप अपनी मर्जी से भी अपने बालों को नहीं कटवा सकते. हमारे भारत में तो आप जैसा मर्जी हेयर स्टाइल करवा सकते हैं. लेकिन उत्तरी कोरिया में आपको सिर्फ सरकार द्वारा पास किए गए 28 हेयर स्टाइल में से किसी एक की तरह ही बाल कटवाने पड़ते हैं. और इन 28 हेयरस्टाइल में सिर्फ 10 मर्द के लिए और 18 औरतों के लिए हैं. इसके अलावा यहां की सरकार ही यह तय करती है कि यहां की जनता क्या पहनेगी. उदाहरण के लिए जैसे कि यहां पर जीन्स पहनने के लिए पाबंदी है. साउथ कोरिया की सरकार ने एक ऐसा कानून बनाया है. जिसके हिसाब से वहां पर सारे घरों को सिर्फ ब्राउन रंग से रंगा जाता है. लेकिन ब्राउन होने की वजह से यह सारे घर बहुत ही भदे दिखते हैं. इस देश के इतिहास की किताबों में सिर्फ किम जोंग उन की वीर कथाएं पढ़ाई जाती हैं. यहां के स्कूलों को दुनिया के बाकी देशों के इतिहास से कोई मतलब नहीं है. नॉर्थ कोरिया में सिर्फ 3 टीवी चैनल दिखाए जाते हैं. जिसमें 2 चैनलों में तो सप्ताहिक कार्यक्रम आते हैं. और 1 पर केवल धारावाहिक ही आते हैं. इसलिए आप केवल वही चीज देख सकते हैं. जो कि यहां की सरकार आप को दिखाना चाहती है. किम जोंग उन को सनकी तानाशाह माना जाता है. क्योंकि उन्होंने अपने चाचा को नंगा करके 20 भूखे कुत्तों के आगे फेंक दिया था. उत्तर कोरिया में ढाई लाख से अधिक लोगों को जेल में बंद करके रखा गया है. यहां पर इतनी सख्त व्यवस्था की गई है. ता जो यहां से कोई भी भाग ना सके.
उत्तर कोरिया पूरी दुनिया से कटा हुआ है. यहां के टीवी चैनल, अखबार, मैगज़ीन, इंटरनेट, बाहरी दुनिया की कोई भी जानकारी नहीं देते हैं. यहां पर जनता को वही समाचार दिखाए जाते हैं. जो कि सरकार चाहती है. यहां पर इंटरनेट आम लोगों के लिए बिल्कुल भी नहीं है. इंटरनेट की व्यवस्था सिर्फ कुछ चुनिंदा सरकारी मुलाजिमों को ही दी गई है. उत्तर कोरिया का अपना कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम है. जिसे Red Star कहा जाता है. उत्तर कोरिया में आम लोगों के लिए कार रखने पर पाबंदी लगी हुई है. यहां पर सिर्फ सेना के अधिकारी या सरकारी मुलाजम ही कार को रख सकते हैं. दोस्तों अगर आप उत्तर कोरिया में घूमने जा रहे हैं. तो आपको यह बात तो जरूर पता होनी चाहिए. कि आप वहां के लोगों से बिल्कुल भी बात नहीं कर सकते हैं. और आपको हमेशा गाइड की निगरानी में रखा जाता है. आप अकेले कहीं भी घूम नहीं सकते हैं. उत्तर कोरिया ही दुनिया का मात्र ऐसा देश है. जिसने कि अमेरिका को खुलेआम युद्ध की चुनौती दे रखी है. इसके साथ ही उत्तर कोरिया ने अमेरिकन नेवी का जहाज भी अपने कब्जे में किया हुआ है. नॉर्थ कोरिया के लोग दूसरे देशों में जाकर नहीं रह सकते हैं. और ना ही उन्हें दूसरे देश का वीजा दिया जाता है. यहां तक कि यहां की सरकार किसी भी नागरिक को देश से बाहर जाने ही नहीं देती है. उत्तर कोरिया में टूरिस्ट मोबाइल फोन लेकर घूम नहीं सकते हैं. इसलिए मोबाइल को एयरपोर्ट पर ही जमा करवा दिया जाता है. और जब वह अपने देश पर वापसी करते हैं तो उन्हें मोबाइल वापस कर दिया जाता है. उत्तर कोरिया में ऐसा कानून बनाया गया है कि कोई भी गरीबी के बारे में बात नहीं कर सकता. लेकिन फिर भी सभी को खुश रहना पड़ता है. उत्तर कोरिया में गरीबों की फोटो को खींचना सख्त मना है. क्योंकि यहां के तानाशाह का माना है. कि गरीब लोगों की फोटो दूसरे देशों के सामने आने पर देश के अभिमान में कमी आती है.
आपको यह भी बता दें कि वहां पर साधारण सा लगने वाला अपराध आपको मौत के करीब पहुंचा सकता है. यहां पर बाइबल रखना, दक्षिण कोरियाई फिल्म, या फिर पॉर्न देखना बहुत ही सख्त अपराध माना जाता है. इसके लिए आपको सिर्फ मौत की सजा दी जाती है. उत्तर कोरिया के हर एक घर में सरकार द्वारा नियंत्रित रेडियो लगे हुए हैं. यहां के नागरिक अपनी मर्जी के अनुसार इन रेडियो को बंद नहीं कर सकते हैं. उत्तर कोरिया में Juis कैलेंडर चलन में है. और इस समय उत्तर कोरिया में साल 104 चल रहा है. असल में उत्तर कोरिया का कैलेंडर किम जोंग उन के दादा किल इम सुन के जन्म के बाद शुरू होता है. दोस्तों अगर आपको कंपनी में संडे को काम करना पड़ता है. तो आपको बुरा लगता होगा. लेकिन उत्तर कोरिया में कर्मचारी को सातों दिन काम करना पड़ता है. इन 7 दिनों में से वह एक दिन सरकार के लिए काम करते हैं. मतलब की 6 दिन का पैसा कर्मचारी को दिया जाता है. और 1 दिन का पैसा सरकार को चला जाता है. तो दोस्तों अब आपको भी पता चल ही गया होगा. नॉर्थ कोरिया के कानून के बारे में कि किस वजह से वहां के लोग बहुत सारी कठिनाइयों का सामना करते रहते हैं. इसीलिए दोस्तों नॉर्थ कोरिया के बारे में आप लोगों का क्या कहना है. हमें कमेंट में लिखकर जरूर बताएं. और इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर जरूर करें धन्यवाद.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *