You won’t know these things || आपको ये बातें पता नहीं होंगी

दोस्तों क्या आप यह बात जानते हैं की प्लेन के टायर क्यों नहीं फटते, और आखिरकार कुए गोल ही क्यों होते हैं, और सऊदी अरब में पानी कहां से आता है, और तिब्बत के ऊपर से आखिर प्लेन क्यों नहीं उड़ते, सीमेंट कैसे बनता है, OTP Code की शुरुआत कहां से हुई अगर नहीं जानते तो चलिए दोस्तों हम आपको बताते हैं.

1. आखिर प्लेन के टायर कभी भी क्यों नहीं फटते.

दोस्तों प्लेन का वजन तो वैसे कई टन होता है. बोइंग 737 का takeoff way 80 टन से भी ज्यादा है. इसके अलावा लैंडिंग के वक्त इसकी स्पीड तकरीबन 250 से 300 किलोमीटर प्रति घंटा होती है. लेकिन फिर भी इसके टायर कभी भी नहीं फटते. चलिए बताते हैं आपको कि आखिर यह कैसे संभव होता है. दोस्तों फैक्ट्री में इन टेरो को बनाने के लिए रबड़ के साथ-साथ स्टील और अलमुनियम का भी उपयोग किया जाता है. और इसमें कार के टायर के मुकाबले 6 गुना ज्यादा प्रेशर से हवा को भरा जाता है. ता जो यह ज्यादा लोड को सहन कर सके. इसके साथ ही इसने नॉर्मल हवा के बदले नाइट्रोजन गैस को भरा जाता है. इसलिए यह काफी मजबूत हो जाते हैं.

2. सऊदी अरब में पानी कहां से आता है.


दोस्तों जब भी हम सऊदी अरब के बारे में बात करते हैं तो सबसे पहले तेल का ख्याल हमारे दिमाग में आता है. लेकिन पानी की बात इससे ज्यादा जरूरी हो गई है. क्योंकि इस तेल के बिना तो रहा जा सकता है लेकिन पानी के बिना जीना नामुमकिन है. अगर आप सऊदी अरबिया के नक्शे को देखेंगे तो आपको वहां पर एक भी नदी नहीं दिखेगी. सऊदी अरबिया दुनिया का ऐसा देश है जहां पर कोई भी नदी नहीं है. जो भी फ्रेश वाटर इस देश में है वह या तो अंडर-ग्राउंड है. या फिर रेगिस्तान में पाए जाने वाले oxsis में पाया जाता है. फिर भी यहां पर हर व्यक्ति 250 से 270 ltr पानी हर रोज इस्तेमाल करता है. जो कि हमारे इंडिया के लोगों की uses से भी डबल है. यहां पर जो भी पानी के कुएं थे वह तो कब के सूख चुके हैं. फिर भी सोचने वाली बात है कि आखिर यहां पर पानी आता कहां से है. दोस्तों आपको बताते हैं सऊदी अरेबिया में पानी के दो मुख्य स्रोत हैं. पहला है ग्राउंड वाटर और दूसरा है Desalinated sea water. सऊदी की 50% वाटर सप्लाई ग्राउंड वाटर से होती है. लेकिन वैज्ञानिकों ने यह अनुमान लगाया है कि अगले 10 साल में ग्राउंड वाटर बिल्कुल ही खत्म हो जाएगा. दूसरा जरिया जिससे सऊदी अरब को पीने के लिए पानी मिलता है. वह है समुंदर के पानी में नमक निकाल उसको पीने लायक बनाना. सऊदी अरब दुनिया में सबसे ज्यादा मात्रा में पानी को Desalinated करता है. और इसके लिए उसने कई बड़े-बड़े प्लाट भी लगा रखे हैं. लेकिन फिर भी यहां पर पानी की जरूरत लगातार बढ़ती ही जा रही है. वैसे तो तेल बेचकर सऊदी बहुत ही कमाई कर रहा है. लेकिन इस कमाई का ज्यादा हिस्सा पानी को पीने लायक बनाने में ही चला जाता है. सऊदी में हर साल पानी की मांग 7% तेजी से बढ़ रही है. इसलिए दोस्तों कहा जाता है कि पानी को हमेशा ध्यान से use करना चाहिए.

3. आखिर कुए को गोल ही क्यों खोदा जाता है.


दोस्तों आपने कभी गोल कंक्रीट की टंकी को देखा ही होगा. असल में गोलाई में कंक्रीट की पकड़ बहुत मजबूत रहती है. क्योंकि हर एक हिस्से पर बराबर का प्रेशर पड़ता है जो उस स्ट्रक्चर को संभाल कर रखता है. और एक कुएं के गोल होने की वजह से ही उसकी दीवारों की मिट्टी नीचे धसती नहीं है. अगर कुए को चौरस बना दिया जाए तो उसकी हर एक दीवार पर ज्यादा दबाव पड़ेगा.जिस कारण कुए की मिट्टी धंसने के चांसेस बढ़ जाएंगे.

4. तिब्बत के ऊपर से प्लेन क्यों नहीं उठते.


दोस्तों तिब्बत चीन का एक प्राकृतिक सर्जन है. यह चीन के दक्षिणी पश्चिमी भाग में स्थित है. और यह भारत के साथ पश्चिम बॉर्डर को सांझा करता है. तिब्बती पठारिया दुनिया में सबसे ऊंची जगह है. यहां के पर्वतों की ऊंचाई 6000 मीटर से भी ज्यादा है और इसने एवरेस्ट, मकालू,और कंचनजंगा कैसे कई 8000+ मीटर वाले पहाड़ भी मौजूद हैं. इस जानकारी से आपको यह पता चलेगा कि एयरलाइन कंपनी तिब्बत के ऊपर से उड़ान भरने के लिए क्यों तैयार नहीं होती हैं. ज्यादातर कमर्शियल फ्लाइट के लिए हमेशा ही उच्चतम ऊंचाई 8000 मीटर ही होती है. लेकिन यहां पर 8000 मीटर से भी ऊंचे पहाड़ फ्लाइट से टकराने के लिए तैयार रहते हैं. इसलिए कोई भी प्लेन दत्त के ऊपर से नहीं होता तो दोस्तों आपको यह जानकारी कैसी लगी.

5. सीमेंट कैसे बनता है.


सीमेंट जिसे हम मकान, दुकान, बड़ी बड़ी बिल्डिंग, माल आदि बनाने के लिए इस्तेमाल करते हैं. आखिर कैसे बनाया जाता है. आप यह बात नहीं जानते होंगे. सीमेंट कैल्शियम, सिलिकॉन, आईरन, एलुमिनियम एक सीमित मात्रा में मिक्स करके बनाया गया एक केमिकल होता है. सीमेंट बनाने के लिए इन कच्चे केमिकल को सीमेंट बनाने वाली मशीनों में गर्म करके महीन पाउडर में बदल दिया जाता है. फिर जब इस पाउडर में पानी मिलाया जाता है. तो खत्म हो जाता है. और इसी को हम सीमेंट बोलते हैं. वैसे तो सीमेंट भी कई तरह के होते हैं. लेकिन आमतौर पर इस्तेमाल होने वाला सीमेंट पोटली सीमेंट होता है. जो कि एक हाइड्रॉलिक सीमेंट होता है. मतलब के पानी डालने पर जमने वाला सीमेंट. सीमेंट को बनाने के लिए इन सभी केमिकल का यूज किया जाता है जैसे कि चुना या फिर कैल्शियम ऑक्साइड होता है जिसकी मात्रा लगभग 60% से 70% तक होती है.

6. OTP Code शुरुआत कहां से हुई.


दोस्तों आप सभी लोग जानते ही हैं. कि ओटीपी की फुल फॉर्म वन टाइम पासवर्ड है. लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि ओटीपी अमेरिका में $60000 की चोरी के बाद एक सिक्योरिटी फ्यूचर के रूप में शुरू किया गया. एक बार 2008 में अमेरिका के एक वकील के अकाउंट से किसी ने $60000 निकाल लिए और जब इसकी खबर बैंक अधिकारियों को दी गई तो वह है जिसकी जांच में जुट गए. जांच करने के बाद उन्हें पता चला कि ऐसी हरकत पहले भी 6 लोगों के साथ हो चुकी है. और यह काम एक जापान के लड़के का था. फिर ऑनलाइन फ्रॉड के बाद OTP का इस्तेमाल होने लगा. जिसने इन ट्रांजैक्शन को और भी सिक्योर बना दिया. OTP की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें जो Code जनरेट होता है. वह कुछ सेकंड के लिए ही वैद्य रहता है. और फिर वह खत्म हो जाता है. इसके अलावा इसे बस एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है.

Spread the love

About Raveena

https://allknowlegde.com This Site Show All Amazing Facts, Bollywood, Heath Benefits and Also So Please Spot My Blog Form Best Information And Smart Knowledge Thanks

View all posts by Raveena →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *